शिक्षकों के खिलाफ उनकी अभद्र टिप्पणी पर माफ़ी मांगे महेंद्र सिंह: कुलदीप राठौर

शिमला :. कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह से शिक्षकों के खिलाफ उनकी अभद्र टिप्पणी पर माफ़ी मांगने की मांग की है।उन्होंने कहा है कि एक मंत्री ने शिक्षकों का ही नही,अपितु सारे समाज का अपमान किया है।उनके बयान से शिक्षकों के प्रति छात्रों में भी एक गलत और उनका अपमानजनक संदेश गया है जो सहन नहीं किया जा सकता।
आज यहां पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कुलदीप सिंह राठौर ने कोरोना काल में शिक्षकों के कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि उनकी सेवाओं को देखते हुए सरकार ने उन्हें प्रथम पंक्ति के कोरोना यौद्धाओं का दर्जा दिया है।उन्होंने कहा कि महेंद्र सिंह की शिक्षकों पर की गई उनकी टिप्पणी बहुत ही निदनीय है।
राठौर ने कहा कि कोरोना काल मे शिक्षकों ने पूरी ईमानदारी के साथ अपना दायित्व निभाते हुए ऑनलाइन क्लासे लेकर बच्चों को पढ़ाया है,ऐसे में मंत्री के बयान ने उनके मनोबल पर विपरित असर डाला है।उनका यब बयान पूरी तरह से गैरजिम्मेदाराना और उनकी ओछी मानसिकता का परिचाय है।
राठौर ने कहा है कि महेंद्र सिंह हमेशा ही सुर्खियों में रहने के लिये अनाप शनाप बयानबाजी करते रहते है।अधिकारियों, कर्मचारियों व आम लोगों को डराना धमकाना उनकी आदत है।पिछले दिनों मुख्य सचिव जो अपनी ईमानदारी और कर्त्तव्य निष्ठा के लिये जाने जाते है के साथ उनकी बदसलूकी भी चर्चा में रही है।चुने हुए विधायक का इस प्रकार का आचरण व व्यवहार बहुत ही निदनीय है।
राठौर ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से इस बारे कड़ा संज्ञान लेने और अपने इन नेताओं को अपनी हद में रखने की सलाह देते हुए कहा है कि  कांग्रेस भाजपा नेताओं के इस आचरण की भर्त्सना करती है।
राठौर ने मुख्यमंत्री के उस बयान में भी जिसमें उन्होंने कांग्रेस के विखराव की बात कही है पर  प्रतिकार करते हुए कहा कि उन्हें कांग्रेस की नही अपनी पार्टी की चिंता करनी चाहिए।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भारी दवाब में है जिनके नियंत्रण में न तो उनके मंत्री है, न ही नेता और न ही प्रशासन।उन्होंने कहा कि कांग्रेस जल्द ही कोरोना काल मे प्रदेश हुए भाजपा के घोटालों को उजागर करेगी।कांग्रेस एकजुटता के साथ भाजपा की जनविरोधी नीतियों व निर्णयों का डट कर विरोध कर रही है जिसमें उन्हें लोगों का भारी जनसमर्थन मिल रहा है।
———- ————————————/–
कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने केंद्र सरकार द्वारा राफेल खरीद घोटाले पर जेपीसी जांच की मांग करते हुए फ्रांस सरकार द्वारा इसकी न्यायिक जांच शुरू करने का स्वागत किया है।उन्होंने कहा कि राफेल डील में बहुत बड़ा भ्रष्टाचार हुआ है और जांच के बाद अब सच सामने आएगा।
राठौर ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी व अन्य कांग्रेस नेताओं ने राफेल डील की जेपीसी मांग की थी,पर सरकार ने नही मानी।उन्होंने कहा कि अब फ्रांस सरकार द्वारा शुरू की गई जांच के बाद अब इसमें हुए भ्रष्टाचार की पूरी पोल खुलेगी और इस भ्रष्टाचार  में शामिल भाजपा नेताओं की पूरी पोल खुलेगी।
राठौर ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि उन्होंने देश की सुरक्षा से खिलवाड़ व समझौता किया है।उन्होंने कहा कि राफेल डील में भाजपा नेताओं का लेनदेन में हाथ है।यही बजह रही कि राफेल की देखरेख,रखरखाव का पूरा काम रिलायंस कंपनी को दिया गया है जिसका इस क्षेत्र में कोई भी अनुभव नही है।उन्होंने कहा कि जांच के बाद भाजपा के भ्रष्टाचार में चहरे बेनकाब होंगे।

About Author

You may have missed