February 24, 2024

सायबर ठगी के आरोपी को पुलिस ने झाखण्ड से किया गिरफ्तार

 

 

शिमला। पुलिस थाना बालूगंज के तहत एक व्यक्ति से साइबर ठगी के मामले में अपराधी को जामतारा, झारखंड से किया है। इसने एक व्यक्ति से एनी डेस्क एप डाउनलोड करवाया था। आरोपी का नाम अलीमुद्दीन अंसारी पुत्र दुखन मियां, गांव-मदनाडीह पोस्ट-मंज हलाडीह थाना-नारायणपुर, मझलाडीह, जामताड़ा झारखंड है। साइबर सेल शिमला ने अपराधी को जामतारा, झारखंड से गिरफ्तार किया है । शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने पानी का बिल जमा करने के लिए ऑनलाइन पेमेंट की जिसमे समस्या आने पर गूगल से कस्टमर केअर का नंबर सर्च कर कॉल की। जिसमे शातिर ने उससे पेमेंट क्लियर करने के लिए एनी डेस्क ऐप डाउनलोड करवाई। जिसके बाद उसके बैंक खाते से 1.53 लाख रुपए निकाल लिए । उक्त शिकायत पर थाना बालूगंज ने पुलिस की विशेष टीम गठित की। जिस पर पुलिस ने आरोपी की लोकेशन ओर कॉल डिटेल के आधार पर जामतारा, झारखंड में दबिश दे कर आरोपी को उक्त केस में (60 हज़ार कैश, डेबिट कार्ड व मोबाइल फोन के साथ) गिरफ्तार किया है। उक्त अभियोग में आईटी एक्ट भी जोड़ा जा रहा है।

ऐसी हुई थी ठगी
पुलिस को दी शिकायत में चरणजीव वर्मा निवासी टाइप-1 ब्लॉक बी, सेट नंबर-3 प्रेस कालौनी घोड़ा चौकी ने बताया कि उन्होंने उन्होंने पानी का बिल जमा करवाने के लिए मोहन वर्मा नाम के व्यक्ति को 828 रुपए दिए थे। यह राशि उन्होंने अकाउंट में जमा करवाई थी। जबकि ये राशि उनके अकाउंट में नहीं गई। इसकी शिकायत ऑनलाइन मिले एक नंबर 9451330817 पर की। उनकी कॉल किसी विकास कुमार नाम के व्यक्ति के मोबाइल नंबर 9933655337 पर ट्रांसफर हो गई। फोन सुनने वाले व्यक्ति ने कहा कि वह अपने मोबाइल पर एनी डेस्क एप डाउनलोड करे। व्यक्ति के कहे अनुसार उसने एनी डेस्क एप डाउनलोड किया। शातिर जैसा उसे कहता गया उसके अनुसार ही उसने मोबाइल पर आए काेड को बता दिया। इसके बाद उसके खाते से कुछ ही देर में 7 बार ट्रांजेक्शन हुई। उसके खाते से शातिरों ने 1,53,386 रुपए निकाल लिए।

About Author

You may have missed