रिपन अस्पताल कर्मी ने किया सुसाइड: मानसिक तौर पर परेशान था; शिमला में जंगल में लगाया फंदा, वार्ड कर्मचारी था मृतक, 

शिमला।राजधानी शिमला में आत्महत्या के मामले सामने आ रहे हैं दिन । मनोचिकित्सक भी मानसिक दबाव मुख्य कारण मान रहे हैं लेकिन सबसे अहम बात है कि आत्महत्या करने वाले अधिकतर युवा ही हैं ताजा मामले में
रिपन अस्पताल के एक कर्मचारी सुसाइड करके जीवन लीला समाप्त कर ली है। बताया जा रहा है कि उक्त कर्मचारी पिछले काफी समय से मानसिक तौर पर परेशान था। मृतक की उम्र करीब 27 साल है। शव टूटीकंडी के जंगल में पेड़ से लटका हुआ था। मृतक की पहचान जतिन कुमार के तौर पर हुई है।
मृतक रिपन अस्पताल में बतौर वार्ड कर्मचारी तैनात था। बताया जा रहा है कि वह ड्यूटी के बाद रात को अपने घर गया था, लेकिन घर तक नहीं पहुंचा। रास्ते रात को किसी समय इसने फंदा लगा दिया। सुबह शव देखा तो लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।
 एएसपी   रमेश शर्मा का कहना है कि आजकल के कुछ नौजवान अपनी प्रॉब्लम दूसरों से शेयर नहीं करते हैं। यह एक वजह है, जिससे युवक सुसाइड कर रहे हैं। उनका कहना है कि युवक ने सुसाइड क्यों किया, इस बारे में पूछताछ चल रही है, लेकिन प्राथमिक जांच में युवक का मानसिक तौर पर परेशान होना कारण माना गया है। हर तरह से इस मामले की जांच कर रहे हैं।

About Author

You may have missed