February 28, 2024

एचआरटीसी चालक संघ का सरकार को 10 दिन का अल्टीमेटम , मांगे न मानी तो 30 मई को थम जाएंगे बसों के पहिये

शिमला।एचआरटीसी चालक संघ ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।संघ ने 10 दिन का अल्टीमेटम देतें हुए कहा है कि यदि उनकी मांग 28 मई तक पूरी नही हुई ये उन्हें बातचीत के लिय नही बुलाया तो 29 मई रात 12 बजे से एचआरटीसी बसों के पहिये थम जाएंगे।
ड्राईवर यूनियन ने चेताया है कि अगर 29 मई तक सरकार व निगम प्रबंधन उनकी मांगो को पूरा नहीं करता हैं कि तो फिर 30 मई को एचआरटीसी के ड्राईवर बसें नहीं चलाएंगे। 30 मई को एचआरटीसी ड्राईवर यूनियन की ओर से काम छोड़ो आंदोलन चलाया जाएगा। 29 मई रात 12 बजे के बाद एचआरटीसी की बसें नहीं चलेंगी। राजधानी शिमला के पुराना बस स्टैंड में हुई एचआरटीसी ड्राइवर्स यूनियन की गेटिंग मीटिंग में यह ऐलान किया गया है।
एचआरटीसी ड्राईवर यूनियन ने आरोप लगाया है कि सरकार व निगम प्रबंधन की ओर से एचआरटीसी के कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। प्रदेश के अन्य विभागों में जहां छठे वित्तायोग की सिफारिशों को लागू कर दिया गया है, तो वहीं एचआरटीसी कर्मचारियों के लिए अभी तक छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू नहीं किया गया है। वहीं पिछले कई वर्षो से लंबित वित्तीय मांगों को भी पूरा नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में कई बार एचआरटीसी प्रबंधन व परिवहन मंत्री से मुलाकात की जा चुकी है। सरकार व प्रबंधन की ओर से हर बार मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया जाता हैं, लेकिन मांगे पूरी नहीं की जा रही है। ऐसे में अब एचआरटीसी ड्राईवर्स यूनियन ने सरकार व निगम प्रबंधन को अंतिम चेतावनी दे दी है। ड्राईवर्स यूनियन की मांग है कि विसंगितयों को दूर कर एचआरटीसी कर्मचारियों के लिए छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जाए। इसके अलावा प्रदेश के 36 महीने का नाइट ओवर टाइम भी जारी किया जाए। कर्मचारियों को 2006 से एरियर की राशि जारी नहीं की गई है। वह राशि भी जल्द से जल्द जारी की जाए।
बॉक्स:
जेसीसी भी करेगी आंदोलन
एचआरटीसी की संयुक्त समन्वय समिति ने भी सरकार व निगम प्रबंधन को मांगे पूरी करने के लिए जून तक का समय दिया है। जेसीसी ने चेताया है कि अगर जून तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है, तो फिर जून से संयुक्त समन्वय समिति की ओर से भी प्रदर्शन किया जाएगा। उधर एचआरटीसी पैंशन ने 8 जून को सचिवालय का घेराव करने की रणनीति तैयार कर ली है।

About Author