किसान आंदोलन का असर आम लोगो पर, ट्रैफिक रहा घण्टो बंद पैदल चलने को मजबूर हुये।लोग

शिमला। राजधानी शिमला में आज सुबह से ही लोगोें को ट्रैफिक की परेशानी का सामना करना पड रहा है। संयुक्त किसान मंच के धरने के कारण शिमला में ट्रैफिक डायवर्ट किया गया उसकी वजह से गाडियों के पहिए एक ही जगह थमते गए। शिमला पुलिस ने ट्रैफिक को लेकर जो बदलाव किया वो आम जनता के लिए परेशानी बन गया है। लोगों को सुबह से लेकर अभी तक जाम की वजह से परेशान होना पड रहा है
सँजोली से बस स्टैंड को सीधे बस नही जा रही है।छोटा शिमला, टालेंड को जाने वाले लोग पैदल आने ,जाने।को मजबूर हुए

इन रूटों पर लग रहा ज़्यादा देर जाम
संजौली से लक्कड़ बाज़ार, विधानसभा से विक्ट्री टनल, ओल्ड बस स्टैंड हर जगह गाडियां लाइन में लगी रही। इसके साथ ही चौड़ा मैदान से विधानसभा तक के वीआइपी मार्ग में भी गाडियों के पहिए जम गए । ट्रैफिक पुलिस की तैनाती के बावजूद भी लम्बा ट्रैफिक जाम देखने को मिलता।रहा इस दौरान सबसे ज़्यादा परेशानी स्कूली बच्चों और कर्मचारियों को आयी।सबसे ज्यादा परेशानी स्कूली बच्चो हुई । दोहपर बाद जैसे ही स्कूल में। छुट्टी हुई सभी बच्चे परेशान हुए अधिकतर स्कूली बच्चो ने पैदल ही जाना उचित समझा ओर पैदल चलते रहे।वही दूर जाने वाले स्कूली छात्र बसों में ही बैठे रहे

शिमला पुलिस का दावा
ट्रैफिक को लेकर डीएसपी अजय भारद्वाज का कहना है कि शहर में आज थोडी बहुत परेशानी लोगों को आयी। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक को सुचारु रूप से चलाने के लिए पहले से ज़्यादा जवान तैनात किए गए हैं ताकि स्थिति को कंट्रोल में रखा जा सकें। शहर के दो से तीन स्पॉट ऐसे है जहां जाम लगने की ज़्यादा परेशानी रहती है उन जगहों पर अधिक पुलिस बल तैनात किया गया है। बाकि जगहों पर जाम की कोई परेशानी नहीं होगी।

About Author

You may have missed